Friday, September 01, 2006

लालू की लीला

लालू की तो हर अदा निराली है। पवन लगभग 12 सालों से बिहार के हालात पर अपनी तिरछी नजर जमायें हैं और उनके अभी तक करीब 7000 कार्टून विभिन्न अखबारों मे प्रकाशित हो चुके हैं।



4 comments:

सागर चन्द नाहर said...

बहुत ही सुन्दर और मजेदार कार्टून, सही कहते हैं कि जो बात हजार शब्द बयाँ नहीं कर सकते मात्र एक चित्र कर देता है।
लेख के साथ में दी गई लिंक में पएअन जी के बनाये और सारे कार्टून देखे बहुत मजा आया।

SHUAIB said...

हा हा हा - सभी चित्र ज़बरदस्त हैं बहुत हंसी आई

उडन तश्तरी said...

बढिया कार्टून लाये हैं. :)

Raviratlami said...

अच्छे कार्टून हैं!