Monday, August 18, 2008

लार्ड मैक्लै का ब्रिटेन की संसद को सम्बोधन( Lord Macaulay's Address to the British Parliament 2nd Feb, 1835)

 
लार्ड मैक्लै ब्रिटेन की संसद मे अपने देश के बारे मे क्या टिप्पणी करते हैं , इसको साफ़ और बडॆ आकार मे देखने के लिये  नीचे चित्र पर किल्क करें :

3 comments:

Udan Tashtari said...

कौन से शहर घूम गये, कौन जाने??

लगता है कि शांति पथ पर चलवा कर रवाना कर दिया होगा कि यही भारत है. :)

शहरोज़ said...

aapke teeno blog!
kamaal!
maza aa gaya.
हार्दिक स्वागत!
उत्कट इक्छा आपके मन में है, और कोशिश भी की है, अच्छा लगा.
कभी समय मिले तो इस तरफ भी रुख़ कीजिये:
http://shahroz-ka-rachna-sansaar.blogspot.com/
http://saajha-sarokaar.blogspot.com/
http://hamzabaan.blogspot.com/

Anser Azim said...

I got to know your blog from Indscribe. Lucknow Shaher se aap ki aawaz aur aap ki sahittik vichar
dhara Lucknow Shaher ki doobti hui tahzeeb ko kisi unche aster pai lai jane ki aik achi koshish hai. allah aap ko kaamyab kare.. For your information this email was a hoax some two years ago. pl do check authenticity of this post and mail..
keep this all up
http://blabberonlife.blogspot.com/2007/01/hoax-mail-alert.html

anser azim, Chicago